Albelakhatri.com

Hindi Hasya kavi Albela Khatri's blog

ताज़ा टिप्पणियां

Albela Khatri

जय माँ हिंगलाज के निर्माण ने तेजी पकड़ी........

प्यारे मित्रो !

यह बताते हुए  मुझे अत्यन्त ख़ुशी है कि  आदि शक्ति  देवी हिंगलाज


 के भजनों और स्तुतियों पर आधारित  एक शानदार  वीडियो

"जय माँ हिंगलाज" के निर्माण ने अब तेजी पकड़ ली है  और शीघ्र ही 


यह तैयार हो कर  हिंगलाज भक्तों  तक पहुँचाने का प्रयास मैं कर रहा हूँ



-अलबेला खत्री 

dharajyot,albela khatri,hingulaj,jai hinglaj,maa hinglaj, brahamkhatri
 



हर पथिक पवन बन जाता है


धर्म समझ कर, 


कर्म किया तो 


कर्म हवन बन जाता है 



मानवहित में 


कहा गया 


हर शब्द भजन बन जाता है



सेवाओं के 


स्वर्णशिखर पर 


पहुँचने वाले जान गये 



जनहित के 


पावन पथ का 


हर पथिक पवन  बन जाता है 



-अलबेला खत्री 

albela khatri, hingulaj,hinglaj,jai hainglaj,shakti,brahamkhatri, om hingule param hingule
 

चार कह-मुकरियां



मुख मण्डल उसका सतरंगा 


सबका भेद करे वह नंगा 


आज हि काम का कल बेकार 


क्या वह टीवी ? नहीं अखबार 




देह है भूरी मुख है लाल 


पिछवाड़े से मुँह में डाल


बारिश में हो जाती चीड़ी


क्या वह कीड़ी ? नहिं भाई बीड़ी 




रोज़ रात को मुँह में डालूं


चूस चास के पूरा खा लूँ 


हाय वो मीठे रस की खान 


क्या रसगुल्ला ? नहिं भई पान 




गुड़ से ज़्यादा मीठी लागे


उसके पीछे मनवा भागे 


नूरी नूरी रौशन रौशन 


क्या वह सजनी ? नहीं पड़ोसन

-अलबेला खत्री 

kavi,albela,khatri,hasya,poem,poet,kah-mukri,amir khusro, hindi
 



नाग पंचमी का त्यौहार है बाबाजी

फिर सावन का सोमवार है बाबाजी 

फिर पूजा है, मन्त्रोच्चार है बाबाजी 



आज हमारे जन्म दिवस के मौके पर 


नाग पंचमी का त्यौहार है बाबाजी 



सुबह सवेरे जल्दी उठ कर स्नान करूँ 


घरवाली का ये विचार है बाबाजी 



बीवी को वश में करने का मन्तर दो 


विनती तुम से बार बार है बाबाजी 



वोटर का दुःख उसे दिखाई न देगा


जब तक वो  कुर्सी सवार है बाबाजी 



उम्मीदों पर बार बार जो वार करे 


वही सही उम्मीदवार  है बाबाजी 



जूतों की गारंटी बारहमास मिली 


पर जीवन के दिवस चार हैं बाबाजी 



'अलबेला' फिर सौरभ पाण्डेय डांटेंगे 


है में घुस गया अनुस्वार है बाबाजी 



-अलबेला खत्री 

हिंगलाज,hinglaj, jai  hingulaj , माँ, maa ,khatri ,खत्री, brahamkshtriya ब्रह्मक्षत्रिय 

 


लगता इसकी मति गई मारी बाबाजी

नीयत हो यदि साफ़ हमारी बाबाजी 

नियति भी तब लगेगी प्यारी बाबाजी 



पुस्तक, सी डी और  दवायें बेच रहे 


सन्त नहीं, वे  हैं व्यापारी बाबाजी 



कोई किसी का सगा नहीं है दुनिया में 


सब मतलब की रिश्तेदारी बाबाजी 



दाज नहीं तो दूल्हा बैरंग लौट गया


इसको कहते दुनियादारी बाबाजी 



तुम पूछो या मत पूछो, मैं कहता हूँ 


क़र्ज़ है सबसे बड़ी बीमारी बाबाजी 



ऊँची एड़ी वाले सैंडिल फिसले तो 


लग जायेगी चोट करारी बाबाजी  



अलबेला खत्री तो  कुछ भी लिखता है 


लगता इसकी मति गई मारी बाबाजी 



-अलबेला खत्री 

jai maa hinglaj,hingulaj,khatri,brahamkhatri,brahamkshtriya, raniwada,barmer,lodrava,lasbela,,albela khatri


अलबेला खत्री द्वारा खत्रियों की कुलदेवी हिंगलाज के भव्य ऑडियो/वीडियो का निर्माण ज़ोरों पर

सभी मित्रों को नमस्कार
आज एक सूचना दे रहा हूँ  कृपया इसे उस हर व्यक्ति तक पहुंचाने में मेरी सहायता करें  जो  भगवती हिंगलाज को मानने वाला हो अथवा  हिंगलाज के बारे में कुछ जानने  वाला हो . खासकर खत्री अथवा  ब्रह्मक्षत्रिय समुदाय के तमाम लोगों तक यह जानकारी  पहुंचाना चाहता हूँ .
धन्यवाद

जिनके सर पर बाल नहीं है बाबाजी


सुर है लेकिन ताल नहीं है बाबाजी

पॉकेट  है पर माल नहीं है बाबाजी



क्योंकर कोई चूमे हमको सावन में


अपने चिकने गाल नहीं है बाबाजी



दर्पण से उनको नफ़रत हो जाती है


जिनके सर पर बाल नहीं है बाबाजी



मेहमानों की ख़ातिरदारी कैसे हो


घर में आटा दाल नहीं है बाबाजी



देश बेच कर खाने वाले लोगों का


लोहू शायद लाल नहीं बाबाजी



उनकी ममता घुट घुट कर मर जाती है


जिनके अपने लाल नहीं है बाबाजी



मंहगाई के बिच्छू डंक चुभाते हैं


मोटी अपनी खाल नहीं बाबाजी



हास्यकवि 'अलबेला' ऐसा घोड़ा है


जिसके खुर में नाल नहीं है बाबाजी




-अलबेला खत्री 





हमारे प्यारे काका राजेश खन्ना के देहावसान पर अलबेला खत्री की शब्दांजलि

छन्न पकैया - छन्न पकैया, कहाँ चले तुम काका 

छोड़ के अपना देश आपने रुख ये किया कहाँ का 



छन्न पकैया - छन्न पकैया,  मुमताज़ रो पड़ेगी 


दो दो हीरो एक साथ गये, दुःखड़ा किसे कहेगी 



छन्न पकैया - छन्न पकैया, पहलवान के पीछे 


अपना सुपर स्टार चला गया, अपनी आँखें मीचे   



छन्न पकैया - छन्न पकैया, श्रद्धांजली हमारी 


परमपिता के श्रीचरणों में, महफ़िल सजे तिहारी



छन्न पकैया - छन्न पकैया, आँखें हैं भर आई  


बहुत दुखी हूँ खो कर अपना , प्यारा खत्री भाई 



-अलबेला खत्री

बीवी को मत आँख दिखाओ बाबाजी


झूमो, नाचो, मौज मनाओ बाबाजी

जीवन का आनन्द उठाओ बाबाजी



ये क्या, जब देखो तब रोते रहते हो ?


घड़ी दो घड़ी तो मुस्काओ बाबाजी



मुझ जैसे मसखरे का चेला बन जाओ


दिवस रैन दुनिया को हँसाओ बाबाजी



ये सब नेता रक्तपिपासु कीड़े हैं


इनसे मत कुछ आस लगाओ बाबाजी



जनता के दुःख को जो अपना दुःख समझे


अब ऐसी सरकार बनाओ  बाबाजी




एक मिनट में ऐसी-तैसी कर देगी


बीवी को मत आँख दिखाओ बाबाजी



ओ बी ओ की परिपाटी है 'अलबेला'


आपस में सब प्यार लुटाओ बाबाजी



-अलबेला खत्री


रुस्तमे-हिन्द दारासिंह के देहावसान पर उनके प्रशंसक अलबेला खत्री की विनम्र शब्दांजलि





नील गगन के पार गया है बाबाजी 


छोड़ के यह संसार गया है बाबाजी 



हरा सका न कोई जिसे अखाड़े में 


मौत से वह भी हार गया है बाबाजी 



देवों को कुछ दाव सिखाने कुश्ती के


कुश्ती का सरदार गया है बाबाजी 



अपनी माता के संग भारत माता का 


सारा  क़र्ज़ उतार गया है बाबाजी 



हाय! रुस्तमे-हिन्द को कैसा रोग लगा 


हर इलाज बेकार गया है बाबाजी 



रिंग का किंग, रिंग तोड़ चला इक झटके में


सुपर किंग के द्वार गया है बाबाजी 



दारासिंह के देह अन्त पर 'अलबेला'


दुःख में यह गुरूवार गया है बाबाजी 



-अलबेला खत्री 


जय माँ हिंगलाज का निर्माण जारी है




सभी ब्रह्मक्षत्रियों / खत्रियों को  सहर्ष सूचित किया जाता है  कि हमारी कुलदेवी माँ हिंगलाज की प्रेरणा और असीम कृपा से हँस वाहिनी भगवती हिंगलाज के सम्पूर्ण  दर्शन एवं  महिमा वर्णन के साथ साथ शास्त्रोक्त पूजन विधि पर आधारित एक भव्य ऑडियो/वीडियो  का निर्माण बड़ी तेज़ी के साथ चल रहा है .


तेरी जय हो वीर जवान, नमन महिमा,साईं हमारा,माँ ने कहा था ,नमन,हास्य हंगामा, प्रभु तारा नाम हज़ार, शेराँ वाली और  हे हनुमान  बचालो  के बाद हास्यकवि अलबेला खत्री की यह अनूठी कृति  दुनिया भर में प्रसरे समस्त हिंगलाज भक्तों के लिए  अत्यन्त  महत्वपूर्ण शाहकार साबित होगी .


यदि आप देवी हिंगलाज के किसी नये अथवा पुराने मन्दिर, श्लोक, आरती, भजन, संस्मरण, अनुभव, फोटो, वीडियो के बारे में जानकारी रखते हैं तो कृपया तुरन्त  हमें सूचित करें


- अलबेला खत्री
मोबाइल - 09228756902
E mail :  albelakhatri.com@gmail.com

My Blog List

Blog Widget by LinkWithin

Emil Subscription

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

Followers

विजेट आपके ब्लॉग पर

Blog Archive