Albelakhatri.com

Hindi Hasya kavi Albela Khatri's blog

ताज़ा टिप्पणियां

Albela Khatri

गोवर्धन गिरधारी योगेश्वर कृष्ण ! क्या आपको ज़रा भी लाज नहीं आती फ़ोकट का माल उड़ाते हुए ?

हे परमपिता परमेश्वर सोलह्कला सम्पूर्ण भगवान श्रीकृष्ण !

सादर दण्डवत !

ढोल-मक्के गूंज उठे हैं, पोस्टर लग चुके हैं और पंजीरी का सामान

भी ख़ूब बिक रहा है, कुल मिला कर आपके जन्मोत्सव की तैयारियां

ज़ोरों पर हैं लेकिन एक बात मेरे दिमाग में कीड़े की तरह कुलबुला

रही है कृपया इसे शान्त करने की कोई व्यवस्था करदें तो मेरी आने

वाली पीढियां आपका बड़ा एहसान मानेंगी


मैं केवल यह जानना चाहता हूँ कि जब आपने अपने अधिकृत प्रवचन

'
गीता' में एक बार नहीं, बार-बार और साफ़ -साफ़ कह दिया कि आप

अजन्मे हैं , अविनाशी हैं, अर्थात जन्म-मरण से परे हैं तो फिर ये हर

साल जन्माष्टमी के दिन हम किसके जन्म पर थाली बजाते हैं और

झांकी सजाते हैं ? कौन है जो अगले दिन कर दही हांडी फोड़ता है ?



मान लिया आप अपना happy birth day मनाने के लिए धरती पर

आते भी हैं, तो कर करते क्या हैं ? सिर्फ़ दही खाकर और नाच

गा कर वापिस लौट जाते हैं ? दुनिया को कर्मयोग का पाठ पढ़ाने

वाले और पुरूषार्थ के लिए प्रेरित करने वाले गोवर्धन गिरधारी

योगेश्वर कृष्ण ! क्या आपको ज़रा भी लाज नहीं आती फ़ोकट का

माल उड़ाते हुए ?


बुरा नहीं मानना, हमें भी अपनी बात कहने का अधिकार है क्योंकि

तुम यदि परमात्मा हो तो हम भी आत्मा हैं, तुम यदि पिता हो तो हम

भी पुत्र हैं और तुम यदि मूल हो तो हम भी तुम्हारा ही विस्तार हैं

"
आप गुरूजी बैंगन खाए, दूजों को उपदेश सुनाये " ये नहीं चलेगा

...........
अगर हमें आपने कर्म का उपदेश दिया है तो हम भी आज

आपको कर्म के लिए समूचा देश देते हैं और विनम्र भाव से कहते हैं

कि अब तक जो हुआ सो हुआ, इस बार आप अकर्मण्यता मत

दिखलाना ... रहे हो तो हमारी समस्याएं मिटा कर जाना


समस्याएँ क्या क्या हैं, ये बताने की कोई ज़रूरत मुझे नहीं है ये

दुनिया आपकी है, आपको सब मालूम है कि हम लो किन किन

संकटों से जूझ रहे हैं यदि आप इस बार हमारे संकट मिटाने के

लिए कुछ कर्म करेंगे तो ही हम जानेंगे कि आपका आना सार्थक हुआ

वरना आप कितने ही भव्य जन्मोत्सव क्यों मनवालो, सब

फालतू है, बेकार है और पाखण्ड है


राधे राधे !

9 comments:

समयचक्र September 1, 2010 at 7:46 PM  

सुन्दर प्रस्तुति
कृष्ण जन्माष्टमी के पर पर हार्दिक शुभकामनाये.....
जय श्रीकृष्ण

Majaal September 1, 2010 at 8:28 PM  

happy badday तो सारे भगवानों का मनता है अपने यहाँ, अकेले मुरली मनोहर को क्यों दोष दे. लोगो ने सुधरने की नहीं रखी है तो कृष्ण जी क्या कर लेंगे, बस मुरली बजाके थोडा बहुत entertainment, और क्या!

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक' September 1, 2010 at 9:00 PM  

मुस्टण्डों को दूध-मखाने,
बालक भूखों मरते,
जोशी, मुल्ला, पीर, नजूमी,
दौलत से घर भरते,
भोग रहे सुख आजादी का, बेईमान मक्कार।
उस कानन में स्वतन्त्रता का नारा है बेकार।।
--
"कर्मण्ये वाधिकारस्ते मा फलेषु कदाचन्!"
--
योगीराज श्री कृष्ण जी के जन्म दिवस की बहुत-बहुत बधाई!

Pt. D.K. Sharma "Vatsa" September 2, 2010 at 3:13 AM  

बहुत खूब्!
श्री कृष्ण जन्मोत्सव की अशेष शुभकामनाये.....

Unknown September 2, 2010 at 8:22 AM  

ये भी खूब रही अलबेला जी कि कृष्ण के उपदेशों पर कभी अमल नहीं किया और साला इल्जाम उन्हीं पर धर दिया।

Urmi September 2, 2010 at 8:59 AM  

आपको एवं आपके परिवार को श्री कृष्ण जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनायें !
बहुत दिनों के बाद आपके ब्लॉग पर आकर बहुत अच्छा लगा! उम्दा प्रस्तुती!

Sunita Sharma Khatri September 2, 2010 at 4:46 PM  

आपने कृष्ण को ही क्यो जान लिया की वही सारे संकट हर लेगे यदि आदमी की आत्मा जाग्रत हो तो संकट खुद ही मिट जाये पर आज के दौर में लोगो की आत्मा है भी या नही । भगवान भी उसकी मदद करते है जो अपनी मदद खुद करते है । अन्यथा न ले। जन्माष्टमी की शुभकामनाएं...

अर्चना तिवारी September 2, 2010 at 6:04 PM  

सुंदर रचना ....
श्री कृष्ण जन्माष्टमी की शुभ कामनाएँ...हरे कृष्ण

RAJENDRA September 3, 2010 at 12:07 PM  

कमाल है भड़ास निकलने के लिए जन्माष्टमी का दिन मिला - कन्हिया के नाम पर जिसका जेसा डाव लगता है कर लेता है - लगता है आप कुछ कर नहीं पा रहे -तुम्हारे हाथ कन्हिया लग जाये तो उसकी दाढ़ी नोंच लोगे क्यों कि अब उसकी भी काफी उम्र हुई और इस चालाकी के साथ कहीं तुमरे आस पास ही हंस रहा होगा जरा गौर से देखना तो

Post a Comment

My Blog List

myfreecopyright.com registered & protected
CG Blog
www.hamarivani.com
Blog Widget by LinkWithin

Emil Subscription

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

Followers

विजेट आपके ब्लॉग पर

Blog Archive