Albelakhatri.com

Hindi Hasya kavi Albela Khatri's blog

ताज़ा टिप्पणियां

Albela Khatri

ये अदालत है ! अदालत है !! अदालत है !!!

चार अक्षर का एक शब्द

जिसके चारों ओर चलती है चाण्डाल चौकड़ी

और बीच में पलती है

वकालत !


उस शब्द को कहते हैं

अदालत !

अदालत !!

अदालत !!!


का आमन्त्रण है - आओ !

दा की दादागीरी है -
दो !

की ललकार है - लड़ो !

और


का तल्ख़ तजुर्बा - तबाह हो जाओ !



आओ

दो

लड़ो

और तबाह हो जाओ


भ्रष्टाचारी राजनीति का

यही मूलमन्त्र है

ये लोकतन्त्र है !

ये लोकतन्त्र है !!

ये लोकतन्त्र है !!!


स्थिति बहुत ही खट्टी है मेरे भाई !

क्योंकि कानून का देवता अन्धा

और

देवी की आँखों पे पट्टी है मेरे भाई !


जब देश पर

आक्रमण करने वाला आतंकवादी बिरयानी चरता है

और उनसे

जूझने वाला बहाद्दुर कमाण्डो गोलियां खा कर मरता है

तब अपराधी अपराध करते हुए नहीं डरता ,

बल्कि सिपाही उन्हें ज़िन्दा पकड़ते हुए डरता है

क्योंकि वो जानता है

अपराधी को दण्ड दिलाने का उसका हर सपना टूट जाएगा

ये दरिन्दा, इकबालिया बयान देने के बावजूद

चश्मदीद गवाहों के अभाव में परिन्दे की तरह छूट जाएगा


इतना होने पर भी हमारी नपुंसक व्यवस्था

शर्मिन्दा तो दूर,

रूआंसी तक नहीं होती

अरे जिन्हें फांसी होजाना चाहिए,

उन्हें खांसी तक नहीं होती


बरसो-बरस से यही हालत है

ये अदालत है ! अदालत है !! अदालत है !!!

hindi poem, kavi sammelan, hasyakavi, hasya kavita, nude girl, adalat, court, law & order, vakil, aatankvaadi, shaheed, deshbhakti, free video, sexy dance, sen sex, india, swarnim gujarat, albelakhatri.com,hasyahungama.com, hamaragujarat.com, albela khatri,  arz kiya hai, zee tv, sony tv, salam namaste haste haste













www.albelakhatri.com

6 comments:

Randhir Singh Suman June 29, 2010 at 9:01 PM  

nice

ZEAL June 29, 2010 at 9:22 PM  

badhiya vyang !

Unknown June 29, 2010 at 9:46 PM  

lokatantr- jindabad , duniya ka sabase bada lokatantr -jindabad -jindabad
ham gautam buddh,mahatma gandhi ke desh ke mahan nagarik hai. ram , krishn , prashuram ke desh ke nahi hai kya ?
arganikbhagyoday.blogspot.com

राजीव तनेजा June 30, 2010 at 10:13 AM  

कटु सत्य को उजागर करती सटीक कविता....

संगीता स्वरुप ( गीत ) June 30, 2010 at 10:18 AM  

बहुत सटीक व्यंग ...

pran sharma June 30, 2010 at 2:26 PM  

AAPKEE LEKHNEE ISEE TARAH VYAGYA KE BAAN CHALATEE
RAHEE.KITNAA KATU SATYA HAI AAPKEE RACHNAAON MEIN

Post a Comment

My Blog List

myfreecopyright.com registered & protected
CG Blog
www.hamarivani.com
Blog Widget by LinkWithin

Emil Subscription

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

Followers

विजेट आपके ब्लॉग पर

Blog Archive