Albelakhatri.com

Hindi Hasya kavi Albela Khatri's blog

ताज़ा टिप्पणियां

Albela Khatri

देश की चिन्ता करने वाले घर की चिन्ता करना सीख



टिप्पणियों पर मरने वाले विज्ञापन पे मरना सीख

क्या रखा है वाह वाह में, नगद कमाई करना सीख

घण्टों तक कम्प्यूटर से चिपका तो पत्नी उखड़ जाएगी

देश की चिन्ता करने वाले घर की चिन्ता करना सीख

hindi hasyakavi albela khatri hasya kavita  hindi bloggers hasyasamrat



















www.albelakhatri.com

19 comments:

Mithilesh dubey May 18, 2010 at 7:46 PM  

sahi kah rahen hain aap

योगेन्द्र मौदगिल May 18, 2010 at 7:57 PM  

ye 61-62 ke zamane ki fotu badiya hai...

M VERMA May 18, 2010 at 7:57 PM  

घण्टों तक कम्प्यूटर से चिपका तो पत्नी उखड़ जाएगी
उखड़ चुकी है भाई साहब
बहुत सुन्दर लिखा है आपने

दीपक 'मशाल' May 18, 2010 at 7:59 PM  

विज्ञापन देगा कौन सर जी.. लोगों का प्यार ही काफी है.. :)

दिलीप May 18, 2010 at 8:36 PM  

sahi kaha Albela ji..

DR. ANWER JAMAL May 18, 2010 at 8:52 PM  

सर जी आप और भी ज़्यादा अच्छा संदेश दे सकते थे हमेशा की तरह । देश का मतलब देशवासियों की चिंता तो अव्वल में कर ही कितने रहे हैं ? और चन्द लोग जो कर रहे हैं वे आपसे साथ और समर्थन की आशा करते हैं न कि आपसे घुटने तोड़ वाक्यों की । आप जैसे लोग हज़ारों को आन्दोलित कर सकते हैं । आपकी बड़ी तारीफ़ मैंने अपने गुरू जी के श्रीमुख से सुनी है ।

http://blogvani.com/blogs/blog/15882

मनोज कुमार May 18, 2010 at 8:58 PM  

आपसे सहमत।

राजीव तनेजा May 18, 2010 at 10:57 PM  

बात तो सही कह रहे हैं आप

nilesh mathur May 18, 2010 at 11:08 PM  

वाह! क्या बात है !

राज भाटिय़ा May 18, 2010 at 11:08 PM  

घण्टों तक कम्प्यूटर से चिपका तो पत्नी उखड़ जाएगी
अजी हमे क्या मतलब पडोसी की पत्नी से...

Pt. D.K. Sharma "Vatsa" May 18, 2010 at 11:15 PM  

बिल्कुल सही बात अल्बेला जी.....

शिवम् मिश्रा May 19, 2010 at 12:28 AM  

१००% सत्य है महाराज !!

Udan Tashtari May 19, 2010 at 12:46 AM  

फोटो कहाँ खिंचवाई भई. :)

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक' May 19, 2010 at 8:09 AM  

बहुत बढ़िया जी!
37 वर्ष से तो बहुत ही सौहार्द से रहते हैं!
आगे का ईश्वर मालिक है!

kunwarji's May 19, 2010 at 10:33 AM  

ek or albeli ada....
ji bahut badhiya...
mogembo khush ho sakta hai is par...
kunwar ji,

Shah Nawaz May 19, 2010 at 3:51 PM  

"टिप्पणियों पर मरने वाले विज्ञापन पे मरना सीख
क्या रखा है वाह वाह में, नगद कमाई करना सीख
घण्टों तक कम्प्यूटर से चिपका तो पत्नी उखड़ जाएगी
देश की चिन्ता करने वाले घर की चिन्ता करना सीख"


बहुत खूब! जानदार! शानदार! ज़बरदस्त! .................................................................

Rajeysha May 19, 2010 at 4:10 PM  

कहीं सब वाकि‍फ ना हो जाएं, इस उम्र की कहानी से
पुरानी जवानी की तस्‍वीर में संजरना संवरना सीख

Unknown May 19, 2010 at 4:27 PM  

कह तो आप सही रहे हैं अलबेला जी पर यह भी तय है कि हिन्दी ब्लोगर्स विज्ञापन पर मरने के बजाय टिप्पणियों पर ही मरते रहेंगे क्योंकि कमाई की जरूरत तो आप और हम जैसे लोगों को है, इन्हें नहीं। विज्ञापन देने वाले तो टिप्पणियों की संख्या नहीं बल्कि पाठकों की संख्या देख कर विज्ञापन देते हैं और हिन्दी ब्लोग्स को पढ़ने हिन्दी ब्लोगर्स के सिवाय और पाठक तो आने से रहे इसलिये विज्ञापन भी मिलने से रहे।

हम भी आये थे नेट से कमाई करने के उद्देश्य से किन्तु अब तक असफलता ही हाथ लगी है। देखें कभी सफलता मिलेगी भी या नहीं।

अविनाश वाचस्पति May 20, 2010 at 5:55 AM  

एक आवश्‍यक सूचना


अगर आप अपने पर एक पोस्‍ट लिखवाना चाहते हैं तो सही कह रहे हैं कि जगह लिख दीजिए, गलत कह रहे हैं, बस फिर पोस्‍ट का इंतजार कीजिए। जल्‍दी पूरा होगा, है न यूनीक आ‍इडिया। अब इस आइडिया को देने के पैसे निकालिये।

Post a Comment

My Blog List

Blog Widget by LinkWithin

Emil Subscription

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

Followers

विजेट आपके ब्लॉग पर

Blog Archive