Albelakhatri.com

Hindi Hasya kavi Albela Khatri's blog

ताज़ा टिप्पणियां

Albela Khatri

मूर्खों की संगति में ज्ञानी ऐसा है जैसे अन्धों के बीच ख़ूबसूरत लड़की





झूठे की संगति करोगे तो ठगे जाओगे,

मूर्ख शुभेच्छु होने पर भी अहितकर ही होगा,

कृपण अपने स्वार्थ के लिए दूसरों को अवश्य हानि पहुंचाएगा,

नीच आपत्ति के समय दूसरे का नाश करेगा


-सादिक



मूर्खों की संगति में ज्ञानी ऐसा है

जैसे अन्धों के बीच ख़ूबसूरत लड़की

-शेख सादी



5 comments:

Rajendra Swarnkar : राजेन्द्र स्वर्णकार December 11, 2010 at 3:32 PM  

अलबेला जी
वाह ! क्या ख़ूब कहा है …

झूठे की संगति करोगे तो ठगे जाओगे



साभार
- राजेन्द्र स्वर्णकार
शस्वरं

राज भाटिय़ा December 11, 2010 at 3:55 PM  

सहमत हे जी आप की बात से .
धनयवाद

Manas Khatri December 12, 2010 at 7:55 PM  

शानदार प्रस्तुति, अलबेला जी..शुभकामनाएं|

सुरेन्द्र सिंह " झंझट " December 13, 2010 at 1:46 PM  

beech-beech me gyanpoorn baten batate rahne ke liye bahut-bahut dhanyvad.

परमजीत सिँह बाली December 16, 2010 at 10:59 PM  

शानदार प्रस्तुति, अलबेला जी..शुभकामनाएं|

Post a Comment

My Blog List

Blog Widget by LinkWithin

Emil Subscription

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

Followers

विजेट आपके ब्लॉग पर

Blog Archive