Albelakhatri.com

Hindi Hasya kavi Albela Khatri's blog

ताज़ा टिप्पणियां

Albela Khatri

गुरू प्राणी नहीं है, प्राणाधार है



गुरू की महिमा अपरम्पार है,
गुरू प्राणी नहीं है, प्राणाधार है

jai hind

jai hind

1 comments:

Rajendra Swarnkar : राजेन्द्र स्वर्णकार March 26, 2013 at 1:09 AM  







सच कहा आपने गुरू की महिमा अपरम्पार है !
अलबेला जी
सच्चे गुरू के प्रति सच्ची श्रद्धा बहुत सौभाग्य की बात है ।

समय मिले तो मेरी ताज़ा प्रविष्टि के साथ गुरु को समर्पित मेरी इस प्रविष्टि पर भी दृष्टिपात कीजिएगा -

गोविंद से गुरु है बड़ा , कहे गुणी समझाय !
गुरु के आशीर्वाद से , शिष्य परम पद पाय !!




आपको सपरिवार होली की बहुत बहुत बधाई !
हार्दिक शुभकामनाओं मंगलकामनाओं सहित…

-राजेन्द्र स्वर्णकार


Post a Comment

My Blog List

Blog Widget by LinkWithin

Emil Subscription

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

Followers

विजेट आपके ब्लॉग पर

Blog Archive