Albelakhatri.com

Hindi Hasya kavi Albela Khatri's blog

ताज़ा टिप्पणियां

Albela Khatri

बीवी को मत आँख दिखाओ बाबाजी


झूमो, नाचो, मौज मनाओ बाबाजी

जीवन का आनन्द उठाओ बाबाजी



ये क्या, जब देखो तब रोते रहते हो ?


घड़ी दो घड़ी तो मुस्काओ बाबाजी



मुझ जैसे मसखरे का चेला बन जाओ


दिवस रैन दुनिया को हँसाओ बाबाजी



ये सब नेता रक्तपिपासु कीड़े हैं


इनसे मत कुछ आस लगाओ बाबाजी



जनता के दुःख को जो अपना दुःख समझे


अब ऐसी सरकार बनाओ  बाबाजी




एक मिनट में ऐसी-तैसी कर देगी


बीवी को मत आँख दिखाओ बाबाजी



ओ बी ओ की परिपाटी है 'अलबेला'


आपस में सब प्यार लुटाओ बाबाजी



-अलबेला खत्री


9 comments:

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) July 13, 2012 at 5:58 PM  

बहुत बढ़िया प्रस्तुति!
आपकी प्रविष्टी की चर्चा कल शनिवार (14-07-2012) के चर्चा मंच पर लगाई गई है!
चर्चा मंच सजा दिया, देख लीजिए आप।
टिप्पणियों से किसी को, देना मत सन्ताप।।
मित्रभाव से सभी को, देना सही सुझाव।
शिष्ट आचरण से सदा, अंकित करना भाव।।

रविकर फैजाबादी July 14, 2012 at 8:22 AM  

सादर नमन

अलबेला जी !!

आप की इस अलबेली बात पर-





फटा पड़ा दिल शर्ट फटी है अलबेली ।

उलट पुलट कर रात कटी है अलबेली ।

हाथ जोड़कर पैर पड़ा पर वो न माने-

ताल ठोक ललकार डटी है अलबेली ।

तीनों बच्चों को लेकर के भाव दिखाए-

सन अस्सी, चुपचाप पटी है अलबेली ।

एक छमाही दिल्ली रहती पुत्र पास वो-

दूजा पुत्री संग बटी है अलबेली ।

घटी शक्ति अब रोटी को मुहताज हुआ-

रविकर के संग करी घटी है अलबेली ।

भाई बहिनों पुत्र-पुत्रियों को ही माने-

कैसे कह दूँ बहुत लटी है अलबेली ।।

Amrita Tanmay July 14, 2012 at 9:07 AM  

खूब कहा...वाह !

Onkar July 14, 2012 at 11:55 AM  

बहुत खूब

S.M.HABIB (Sanjay Mishra 'Habib') July 14, 2012 at 2:34 PM  

बहुत बढ़िया... वाह वाह
सादर बधाई स्वीकारें।

lokendra singh rajput July 15, 2012 at 12:31 AM  

जय हो बाबा जी... आपकी कही बातें गांठ बाँध लेता हूँ...

मन के - मनके July 15, 2012 at 4:51 PM  

अच्छा मशवरा,हर फ़िक्र को धुएं मेम उडा चला गया

pankaj dhiraj July 19, 2012 at 3:31 PM  

Jai ho Khatri ji..

pankaj dhiraj July 19, 2012 at 3:31 PM  

Jai ho Khatri ji..

Post a Comment

My Blog List

Blog Widget by LinkWithin

Emil Subscription

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

Followers

विजेट आपके ब्लॉग पर

Blog Archive