Albelakhatri.com

Hindi Hasya kavi Albela Khatri's blog

ताज़ा टिप्पणियां

Albela Khatri

दीपोत्सव हर घर मने, रहे नहीं कोई शेष




दीपावली की दोहावली 


दीप जले आँगन खिले, गूंजे मंगल श्लोक 


धनतेरस बरसायेगी, घर घर में आलोक 



पैसा जिसके पास है, उसका है ये फ़र्ज़ 


खुशियाँ दे धनहीन को, नहीं बने खुदगर्ज़ 



दीपोत्सव हर घर मने, रहे नहीं कोई शेष 


खिल खिल हो आनंद की, झूमे पूरा देश 



अलबेला विनती करे, हाथ जोड़ कर आज 


जिसके तन कपड़ा नहीं, ढांको उसकी लाज 



सचमुच की दीपावली, मने यार इस बार 


रोशन रोशन कीजिये, सबका घर संसार 



__धनतेरस  की हार्दिक शुभकामनायें

-अलबेला खत्री 


-आरती खत्री 


-आलोक खत्री 

deepotsav,jyotiparv,deepavli,diwali,dohe,doha,kavita,poetry,hindi,sahitya

4 comments:

mahendra mishra November 11, 2012 at 6:56 PM  

दीपावली पर्व के अवसर पर आपको और आपके परिवारजनों को हार्दिक बधाई और शुभकामनायें....

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) November 11, 2012 at 7:57 PM  

बहुत सुन्दर प्रस्तुति।
त्यौहारों की शृंखला में धनतेरस, दीपावली, गोवर्धनपूजा और भाईदूज का हार्दिक शुभकामनाएँ!

धीरेन्द्र सिंह भदौरिया November 11, 2012 at 10:57 PM  

बहुत खूबसूरत प्रस्तुति,,,,
दीप पर्व की हार्दिक शुभकामनायें,,,,,

RECENT POST:....आई दिवाली,,,100 वीं पोस्ट,

म्यूजिकल ग्रीटिंग देखने के लिए कलिक करें,

Rajesh Kumari November 12, 2012 at 3:13 PM  

आपको दिवाली की शुभकामनाएं । आपकी इस खूबसूरत प्रविष्टि की चर्चा कल मंगल वार 13/11/12 को चर्चा मंच पर राजेश कुमारी द्वारा की जायेगी आप का हार्दिक स्वागत है

Post a Comment

My Blog List

Blog Widget by LinkWithin

Emil Subscription

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

Followers

विजेट आपके ब्लॉग पर

Blog Archive