Albelakhatri.com

Hindi Hasya kavi Albela Khatri's blog

ताज़ा टिप्पणियां

Albela Khatri

हास्यकवि अलबेला खत्री की कविता सूर्य ग्रहण

poem chandragrahan by hasyakavi albela khatri

1 comments:

Majaal August 14, 2013 at 10:55 AM  

अच्छा दर्शन है .. बाकी नापाक लोगों के लिए चाँद को बदनाम नहीं किया जाना चाहिए ... वो भी ताउम्र ... बहुत नाइंसाफी है :)

चित्र जोरदार है :)

लिखते रहिये ..

Post a Comment

My Blog List

Blog Widget by LinkWithin

Emil Subscription

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

Followers

विजेट आपके ब्लॉग पर

Blog Archive