Albelakhatri.com

Hindi Hasya kavi Albela Khatri's blog

ताज़ा टिप्पणियां

Albela Khatri

एक छन्द नेताजी सुभाष चन्द्र बोस के नाम



एक-एक चेहरा मायूस सा हताश सा है

एक-एक चेहरा उदास मेरे देश में


भाई आज भाई का शिकार खेले जा रहा है

बहू को जला रही है सास मेरे देश में


इतना सितम सह के भी घबराओ नहीं,

तोड़ो नहीं बन्धु यह आस मेरे देश में


टेढ़े-मेढ़े लोगों को जो सीधी राह ले आएगा,

पैदा होगा फिर से सुभाष मेरे देश में




hasna mana hai,hasyakavi albela khatri,adult, vina,bigg,teen,yung,poem,hindi,india,cricket,khan, kavi






9 comments:

Kajal Kumar January 23, 2011 at 6:43 PM  

वाह सुंदर.

Anonymous January 23, 2011 at 8:10 PM  

टेढ़े-मेढ़े लोगों को जो सीधी राह ले आएगा,
पैदा होगा फिर से सुभाष मेरे देश में
--
उम्मीद रक दुनिया कायम है!

nilesh mathur January 23, 2011 at 10:24 PM  

वाह! नमन उस अमर शहीद को, और आपका शुक्रिया!

शरद कोकास January 24, 2011 at 12:13 AM  

जय हिन्द

राज भाटिय़ा January 24, 2011 at 12:21 AM  

जय हिन्द।

सुरेन्द्र सिंह " झंझट " January 24, 2011 at 5:11 PM  

jai hind ! bade bhai.
'paida hoga fir se subhash mere desh me '
aisa hi ho!
sundar chhand padhne ko mila .
hardik aabhar.

महेन्द्र मिश्र January 25, 2011 at 5:36 PM  

एक एक छंद सटीक हैं भाई ...बहुत सामयिक प्रस्तुति...आभार

एस.एम.मासूम January 26, 2011 at 3:01 AM  

राष्ट्र नज़रबन्द

और

राष्ट्रघाती स्वतन्त्र है
.

Bahut sahee keha

ѕнαιя ∂я. ѕαηנαу ∂αηι January 31, 2011 at 8:22 AM  

अच्छी सामयिक और सार्थक रचना के लिये बधाई।

Post a Comment

My Blog List

Blog Widget by LinkWithin

Emil Subscription

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

Followers

विजेट आपके ब्लॉग पर

Blog Archive