Albelakhatri.com

Hindi Hasya kavi Albela Khatri's blog

ताज़ा टिप्पणियां

Albela Khatri

देश के लिए मरना बड़ी बात नहीं है अन्ना जी ! देश के लिए जीना बड़ी बात है ...इसलिए अब आप अनशन त्याग दीजिये.......प्लीज़






आदरणीय अन्ना जी !

जिस महान मकसद के लिए आपने  कदम  उठाया,  वह लगभग हासिल


हो चुका है . भले ही अभी  काम पूरा नहीं हुआ  लेकिन जितना हुआ है  वह


ऐतिहासिक  है  और अत्यन्त महत्त्वपूर्ण है . वह कोई कम नहीं है . 


 
सारी पार्टियाँ, सारे दल  एक ही मुद्दे पर  संसद में चर्चा  करते  हुए जिस

प्रकार भ्रष्टाचार के विरुद्ध  आपकी जंग  को समर्थन  दे रहे थे  उसे देख


कर  मेरी पीढ़ी के  लोगों को गर्व हो रहा था कि  भले ही हमने गांधी को


अंग्रेजों  से लड़ते हुए नहीं देखा,  परन्तु  हम अन्ना को  भ्रष्टाचार  के


खिलाफ लड़ते हुए न केवल देख रहे हैं  अपितु  यथाशक्ति अपना  साथ 


भी  दे रहे हैं



अब आप  अनशन  तोड़ दीजिये प्रभु !  अब और जिद्द  मत कीजिये .


आपका  हठ अब तक हमें प्रेरित कर रहा था  परन्तु अब हमें  चिंतित


और परेशान करने  लगा है .



12 दिन  से आपने कुछ खाया नहीं है  सिवाय लोकसमर्थन  के, जिससे


बाकी  सारे काम भले ही हो जाएँ पर पेट नहीं भरता  और ज़िन्दा रहने


के लिए पेट भरना ज़रूरी है



देश के लिए मरना कोई बड़ी बात नहीं है ...देश के लिए जीना बड़ी  बात


है . क्योंकि  मरते  तो लोग रोज़ हैं  यहाँ ..कौन पूछ  रहा है  उनके बारे


में ?  वो हेमंत करकरे,  वो संदीप उन्नीकृष्णन  और हज़ारों हज़ार 


फौजी  जो सरहद पर  मर मिट गये देश के लिए.. देश ने कहाँ याद


रखा किसी को, लेकिन जो लोग देश के लिए जिए  ऐसे  अन्ना हज़ारे


को, किरण बेदी को,  बाबा रामदेव को, नरेन्द्र मोदी को, सोनिया गांधी


को, कपिल देव को, सचिन तेंदुलकर को,  बिड़ला को,  टाटा को  और


अमिताभ बच्चन को  पूरा देश जानता, पहचानता और मानता है .


आप रहेंगे तो  सब होगा, सबके सपने पूरे होंगे. अगर आप ही अनशन


पर डटे रहे, तो............हम सब चिन्तित हैं अन्ना !



देश के लिए मरना नहीं, बल्कि देश की  तमाम बुराइयों को  मारना है,


देश के दुश्मनों को मारना है, मारते-मारते मरना  और मरते मरते भी


मारना है, ख़त्म करना है उन तिलचट्टों को जो देश को चट कर रहे हैं 



ये पोस्ट बहुत  लम्बी होती जा रही है  और इत्ती  लम्बी  पोस्ट कोई


पढता नहीं है  इसलिए मेरी  कर बद्ध प्रार्थना है ..कृपया कुछ अन्न


ग्रहण कर लीजिये .


जय हिन्द !



 

10 comments:

sunil agrawal August 27, 2011 at 6:46 PM  

bahut sundar aur prerak shabd hain aapke khatri ji, mere paas shabd nahin hai badhaai ke liye...bas aapke andaaz me itna hi kahoonga ...jai hind !

जाट देवता (संदीप पवाँर) August 27, 2011 at 6:52 PM  

आज आपने बहुत अच्छी बात कही है
जब सामने अंधी बहरी सरकार हो मरने से कुछ नहीं होगा,

जरुरत है देश को अन्ना की।

नारी शक्ति - शाश्वत शक्ति August 27, 2011 at 6:54 PM  

शाबास खत्री जी !
वाह .....बहोत अच्छे तरीके से आपने अपनी ही नहीं, पूरे देश की भावना रख दी
सचमुच आपसे बहुत कुछ सीखा जा सकता है मेरा सादर प्रणाम और नमन आपकी लेखनी को

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) August 27, 2011 at 10:10 PM  

बहुत बढ़िया।
जन आन्दोतन की विजय पर बहुत-बहुत शुभकामनाएँ।

Khushdeep Sehgal August 28, 2011 at 2:53 PM  

जय हिंद की सेना...

देश के सभी शहीदों को सैल्यूट...

आखिरी पायदान पर खड़े उस भारतीय नागरिक को सैल्यूट जो रोज़ मर मर कर जीता है...

जय हिंद...

सुनीता शानू August 28, 2011 at 6:04 PM  

चर्चा में आज आपकी एक रचना नई पुरानी हलचल

Rakesh Kumar August 28, 2011 at 8:28 PM  

नई पुरानी हलचल से चलकर आपके ब्लॉग पर आया हूँ.
बहुत सुन्दर भावुक प्रस्तुति है आपकी.
अन्नाजी की सफलता पर बधाई.

मेरे ब्लॉग पर आपका स्वागत है.

संगीता स्वरुप ( गीत ) August 28, 2011 at 10:18 PM  

बहुत सार्थक बात कही है ... आधी जीत की बधाई

रविकर September 15, 2011 at 8:01 PM  

साढ़े छह सौ कर रहे, चर्चा का अनुसरण |
सुप्तावस्था में पड़े, कुछ पाठक-उपकरण |

कुछ पाठक-उपकरण, आइये चर्चा पढ़िए |
खाली पड़ा स्थान, टिप्पणी अपनी करिए |

रविकर सच्चे दोस्त, काम आते हैं गाढे |
आऊँ हर हफ्ते, पड़े दिन साती-साढ़े ||

http://charchamanch.blogspot.com/

रविकर September 15, 2011 at 8:02 PM  

साढ़े छह सौ कर रहे, चर्चा का अनुसरण |
सुप्तावस्था में पड़े, कुछ पाठक-उपकरण |

कुछ पाठक-उपकरण, आइये चर्चा पढ़िए |
खाली पड़ा स्थान, टिप्पणी अपनी करिए |

रविकर सच्चे दोस्त, काम आते हैं गाढे |
आऊँ हर हफ्ते, पड़े दिन साती-साढ़े ||

http://charchamanch.blogspot.com/

Post a Comment

My Blog List

Google+ Followers

About Me

My photo

tepa & wageshwari award winner the great indian laughter champion -2 fame hindi hasyakavi, lyric writer,music composer, producer, director, actor, t v  artist  & blogger from surat gujarat . more than 6200 live performance world wide in last 27 years
this time i creat an unique video album SHREE HINGULAJ CHALISA for TIKAM MUSIC BANK
WebRep
Overall rating
 
Blog Widget by LinkWithin

Emil Subscription

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

Followers

विजेट आपके ब्लॉग पर

Blog Archive