Albelakhatri.com

Hindi Hasya kavi Albela Khatri's blog

ताज़ा टिप्पणियां

Albela Khatri

हमें कुछ फ़र्क लगता ही नहीं अपनों में-गैरों में


सज़ा  हम दे नहीं सकते, हमें तो प्यार आता है 

ये मौसम अपने ही जीवन में बारम्बार आता है 

हमें कुछ फ़र्क  लगता ही नहीं अपनों में-गैरों में 

हमें दिखता है दुश्मन भी गोया  दिलदार आता है 


-अलबेला खत्री 
 

बहुत हो चुका बंटाधार, अब देश बचाना ही होगा, नरेन्द्र भाई मोदी को अब दिल्ली जाना ही होगा

  बहुत हो चुका बंटाधार, अब देश बचाना ही होगा, नरेन्द्र भाई मोदी को अब दिल्ली जाना ही होगा


अब तो सारी दुनिया ने माना, हिन्दुस्तान है मोदी का दीवाना - हास्य कवि अलबेला खत्री


अब तो सारी दुनिया ने माना, हिन्दुस्तान है मोदी का दीवाना - हास्य कवि अलबेला खत्री


माननीय नरेन्द्र भाई मोदी भारत के प्रधान मंत्री बन चुके हैं और समूचे देश में उन्नति की एक लहर चल रही है




कहते हैं प्रातः काल में देखा हुआ सपना सिर्फ़  सपना नहीं बल्कि 


भविष्य में आने वाला सच होता है . यदि यह बात सही है,  तब तो 

हिन्दुस्तान के लिए बहुत ही शुभ समाचार है मेरे पास ............

सवासौ करोड़ भारतीयों को आज  एडवांस में मुंह मीठा कर लेना चाहिए . 

क्योंकि आज सुबह  मैंने सपना देखा है कि  अपने लोकलाड़ले छोटे 

सरदार  अर्थात  माननीय नरेन्द्र भाई मोदी  भारत के प्रधान मंत्री बन 

 चुके हैं  और  समूचे देश में  उन्नति की एक लहर चल  रही है .



हे भगवान्  यह सपना सच ही कर देना ....क्योंकि यह सपना केवल 


अलबेला खत्री का नहीं,  बल्कि  पूरे देश का है, देश के भविष्य का  है ...

जय हिन्द ! 


हास्यकवि अलबेला खत्री के मंच सञ्चालन में करुणामूर्ति चन्द्रशेखर विजय जी म. सा. की स्मृति में तपोवन संस्कार पीठ अहमदाबाद का कवि-सम्मेलन सम्पन्न



प्यारे मित्रो नमस्कार

कल रात अहमदाबाद का कवि-सम्मेलन बहुत ही शानदार  तरीके से संपन्न

हो गया . जैन समाज के इस विशेष मंच पर मेरे साथी कवि  अब्दुल गफ्फार,

अशोक चारण, प्रकाश नागौरी  और मनोज हिंदुस्तानी ने उम्दा काव्य-पाठ

किया .  एक बहुत बड़े तपस्वी, देश भक्त योद्धा, अहिंसा और करूणा  के साक्षात

स्वरूप महामना श्री चन्द्रशेखर विजय जी महाराज साहेब की स्मृति में तपोवन

संस्कार पीठ द्वारा आयोजित इस राष्ट्रभक्ति कवि-सम्मेलन  की कुछ ख़ास विशेषताएं

मैं आपके साथ साझा करना चाहता हूँ . परन्तु अभी अभी मुझे  सूरत के टेनिस

क्लब में  पर्फ़ोर्मन्स के लिए रवाना होना है . इसलिए बाद में विस्तार से लिखूंगा .


आओ, अभी हँसने - हँसाने के लिए टेनिस क्लब सूरत चलें ..............

जय हिन्द ! 





हास्यकवि अलबेला खत्री लाया है एक बेहतरीन मौका, आइये और फ़ायदा उठाइये


hasyakavi albela khatri heartly welcome you...........pl. send your profile urgently




यदि ईश्वर ने आपको प्रतिभा दी है 

तो हम आपको अवसर देंगे

पूरा अवसर देंगे अपनी प्रतिभा दिखाने का ....



फ़िल्म,टी वी एवं  स्टेज पर्फ़ोर्मेन्स के लिए तुरन्त ज़रूरत है :

गीतकार
       संगीतकार
            अभिनेता
                 अभिनेत्री
                        नृत्य कलाकार
                                 हास्य  कलाकार

*** ज़रूरत सिर्फ़ उन लोगों की है जो प्रतिभावान होने  के 


साथ-साथ  कला के प्रति पूर्ण समर्पित हैं, कला में ही अपना 

कैरियर बनाना चाहते हैं  और कैरियर बनाने के लिए कुछ 

भी कर गुज़रने के लिए कटिबद्ध हैं .


*** शौकिया कलाकारों के लिए कोई जगह नहीं


पंजीकरण के लिए अपना प्रोफाइल तुरन्त यहाँ ईमेल करें :
tcmusicbank@yahoo.com


 



हिन्दी वीडियो फ़िल्म में काम करने के इच्छुक कलाकार तुरन्त अपना प्रोफाइल भेजें


तुरन्त चाहिये 

एक हिन्दी वीडियो फ़िल्म में काम करने तथा 

वैश्विक स्तर पर लाइव परफोर्मेंस के लिए तुरन्त आवश्यकता है :

अभिनेता / अभिनेत्री 

गीतकार 

गायक / गायिका 
 
मेल / फ़ीमेल डांसर्स  तथा  कॉमेडी के लाइव स्टेज पर्फ़ोर्मर्स की 

इच्छुक  कलाकार तुरन्त अपना प्रोफाइल  भेजें :

tcmusicbank@yahoo.com


______________________________________

WANTED URGENTLY

WANTED URGENTLY


WANTED URGENTLY

Stage Actor / Actress 


Lyric/ Script Writer 


Mail / Female Dancers & Comedy Artist


For Work in Hindi Video Film & International Tours of Live 


Shows

Send Your Profile Now : 


tcmusicbank@yahoo.com
-- 


मातृ दिवस पर हास्यकवि अलबेला खत्री द्वारा जगतमाता आदिशक्ति हिंगुलाज को श्री हिंगुलाज चालीसा की संगीतमय भेन्ट ....




मातृ दिवस के इस पावन प्रात में  अपनी माता समेत समस्त माताओं को सादर

प्रणाम निवेदित करता हूँ  और कामना करता हूँ कि मेरी वजह से उन्हें कभी किसी

भी प्रकार का किंचित भी कष्ट न पहुंचे . उनके जीवन में सदा सुख का सरस  उजाला

और  आत्मिक आनंद  का बोलबाला  रहे .


आज के मधुर अवसर पर ही  समस्त जगत की माता और अपनी कुलदेवी आदिशक्ति

माँ हिंगुलाज के चालीसा निर्माण का काम भी आरम्भ कर रहा हूँ . आशा है  माँ को

और जगत माँ को मेरा प्रयास पसंद आएगा .

सभी मित्रों को हार्दिक प्रणाम

जय माँ हिंगुलाज



हास्यकवि अलबेला खत्री का नया धमाका : पहली बार बनेगा श्री हिंगुलाज चालीसा


hasyakavi albela khatri on path of blood donetion


रक्तदान की राह पर हिन्दी हास्यकवि अलबेला खत्री का नव अभियान

ALBELA KHATRI FOR BLOOD DONETION 

पाकिस्तानी दर्शकों ने भी सर आँखों पर सराहा भारत के हास्यकवि अलबेला खत्री को



अमेरिका में  टेक्सास प्रान्त के डल्लास शहर में शायरी और हास्य-व्यंग्य में 

भीनी वह रात बहुत रंगीन और ख़ुशनुमा थी . भारत से सात समंदर पार 

हिन्दोस्तान और पाकिस्तान के लोग एक साथ हँस रहे थे और एक साथ  

शायरी का मज़ा ले रहे थे . 


शीराज़ मिठानी द्वारा आयोजित इस हास्य समारोह में अपनी प्रस्तुति के पहले मैं  

थोड़ा  सा चिन्तित था अपने परफोर्मेंस को ले कर ........क्योंकि आयोजकों ने 

साफ़ कह दिया था कि  ऑडियंस में केवल पाकिस्तानी लोग रहेंगे  जिन्हें  भारत 

की राजनीति, गुजरात के विकास, भ्रष्टाचार अथवा नरेन्द्र मोदी जैसे विषयों  से 

कोई लगाव नहीं है . लिहाज़ा इन विषयों से हट कर  परफ़ॉर्म  करना है . मेरे लिए 

यह थोड़ा चुनौती भरा काम था . लेकिन शुक्र है  माँ सरस्वती का जिन्होंने मेरी 

राह सरल कर दी . 


मज़े की बात ये है कि  अढाई घंटे चलने वाला प्रोग्राम साढ़े तीन  घंटे चला  और  

इस्माइली समाज के सभी पाकिस्तानी बन्धु  इतने लोटपोट हो गए हँस हँस कर 

कि  समूचा वातावरण  ठहाकों और तालियों से गूंज उठा .  मेरे लिए और भी ख़ुशी 

की बात यह थी कि  वहां के लोगों ने माइक पर आ कर स्वीकार किया  कि  प्रोग्राम 

तो वे पहले भी सैकड़ों देख चुके हैं  लेकिन  अलबेला खत्री का हास्य हंगामा  उन्हें  

अनेक वर्षों तक याद रहेगा . 


वैसे  आपको ये भी बता दूँ कि  जब मैंने गुजरात वाला गीत सुनाया तो पूरा गीत 

लोगों ने मेरे साथ साथ गाया .....है न कमाल की बात  और आनंद की बात 

जय हिन्द !

-अलबेला खत्री 







चालीस दिन के अमेरिका को अहमदाबाद के दिनों ने धो डाला ......


बहुत दिनों बाद आप सभी ब्लोगर बन्धुओं को नमस्कार करने का अवसर 

मिला है आज तो इसे व्यर्थ नहीं जाने दूंगा .....आप सभी को हार्दिक हार्दिक 

स्नेह स्मरण करके रहूँगा .


पिछले 40 दिनों से अमेरिका की यात्रा पर था और वहां बहुत सारे कार्यक्रमों 

के अलावा लम्बी यात्राओं, दोस्तों से मेलजोल  और मौजमस्ती  में अति व्यस्त 

होने के कारण ब्लॉग पर नहीं आ पाया लेकिन आज एक ऐसी घटना घटी कि  

"आना ही पड़ा सजना ....ज़ालिम है दिल की लगी ....." गाते हुए आ गया हूँ  


कहना ये चाहता हूँ कि  हमारे देश का कोई मुकाबला नहीं . "यहाँ के बन्दे 

अल्ला अल्ला, यहाँ का मौसम राम राम" 


40  दिन तक अमेरिका  में ठन्डे मौसम और प्रदूषण रहित वातावरण में रहने 

के कारण मेरे तन-बदन पर एक उजली सी चमक की परत चढ़ गयी थी . रंग 

गोरा सा हो गया था और त्वचा एक दम साफ़ हो गयी थी . ऐसा परिवर्तन अपनी 

देह में देख कर  मैं खुश था ...खुश क्या था, बल्लियों उछल रहा था . लेकिन 

अपना देश तो अपना देश है न भाई ! वह पराई चमक कब तक बर्दाश्त करता  

और क्यों करता ?  लिहाज़ा किराये के एक फ्लैट की तलाश में दो दिन तक ऑटो 

रिक्शा में बैठ कर अहमदाबाद  शहर में घूमा तो बाहरी मुल्लमा झट से उतर 

गया और फट से अपन अपने उसी रंग में आ गए ....हा हा हा हा 


ऐसी गरमी और ऐसी आग बरसाती धूप से सामना हुआ  कि रोम रोम से 

एक ही आवाज़ आई ....जय हिन्द ! 


-अलबेला खत्री 



My Blog List

Blog Widget by LinkWithin

Emil Subscription

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

Followers

विजेट आपके ब्लॉग पर

Blog Archive