Albelakhatri.com

Hindi Hasya kavi Albela Khatri's blog

ताज़ा टिप्पणियां

Albela Khatri

देश का भला जब होगा तब होगा, अपने को तो हो गया ..

सच ही कहते हैं लोग कि वक्त से पहले और किस्मत से ज़्यादा कुछ  नहीं 

मिलता तथा किसी को नहीं मिलता  वो चाहे बाबा रामदेव ही क्यों न हों.....


लेकिन ये किसी ने आज तक नहीं कहा  कि यदि वक्त  पर भी किस्मत में


लिखा माल न मिले तो आदमी को क्या करना चाहिए ?



अब चूँकि किसी ने नहीं कहा  इसलिए स्वामी  अलबेलानन्द  को


अर्थात स्वयं  मुझे इस पर चिन्तन करना पड़ा  और मैंने  जो निष्कर्ष


निकाला वो यूँ है कि  ऐसे  हालात में आदमी को  सारे  काम छोड़ कर सीधे


 हनुमानजी  की शरण ले लेनी चाहिए, काम बन जाएगा इसकी  गारण्टी है .

सुबूत  के तौर पर  ये  मामला देखिये :



पिछले कुछ दिनों से  मैं हनुमानजी की शरण में हूँ और रोज़ाना एक भजन


लिख कर ब्लॉग पर इस कामना के साथ छापता हूँ कि  देश का भला हो .


अब देश का कितना  भला होगा, ये तो समय बतायेगा ....लेकिन  मेरा तो


हो गया  और ऐसा होगया  कि  होने के बावजूद भरोसा नहीं आ रहा कि 


क्या सचमुच हो गया ?  अब मैं आपको बताता हूँ  कि हुआ क्या है....बस


यों समझो  कि  करिश्मा हो गया है .



ndtv india के लिए 2007  में यानी कोई चार साल पहले मैंने तीन


कव्वालियाँ लिखीं थीं  जिसका  पारिश्रमिक  इसलिए अटक गया था


क्योंकि  प्रोड्यूसर  प्रशांत शिशोदिया delhi से mumbai शिफ्ट हो गये .


बहुत प्रयास किया गया  परन्तु  जब कोई बात  न  बनी तो उस  काम


को मैंने डूबत खाते में डाल दिया . इसी प्रकार  दो साल पहले


optimystix  द्वारा  निर्मित लाफ़्टर के फटके में मैंने  काफी काम किया


था  जिनका पेमेंट तो किसी प्रकार  मैंने निकलवा लिया  लेकिन  दो 


कव्वालियाँ लिखी थीं उनका पेमेंट  लगभग डूब चुका था  और  मैं उसके


मिलने की आस छोड़ चुका था पर  कमाल देखिये  कि अभी कुल चार ही


भजन प्रकाशित हुए थे कि दोनों ही जगह  से पेमेंट मिल गया  और  मज़े


की बात ये है कि  मंगलवार के दिन मिला और एक ही दिन मिला . 


कहना मत किसी से ..ख़ास बात ये भी है  कि कव्वालियाँ भी वही थीं जो


पहले ndtv वालों को  दी और बाद में star one पर आयीं .



इसलिए स्वामी अलबेलानन्द  कहते हैं  कि देश का भला जब होगा


तब होगा, हनुमानजी के भजन लिखने का लाभ अपने को तो हो गया ..


हा हा हा हा हा 



 



11 comments:

योगेन्द्र पाल July 10, 2011 at 10:33 AM  

अलबेलानंद जी महाराज की जय हो :)

प्रभू उन भजन के लिंक तो दे दीजिए जिससे हमारा भी भला हो जाए :D

वीडियो - नये ब्लोगर डैशबोर्ड से संक्षिप्त परिचय

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) July 10, 2011 at 10:37 AM  

यह सब भक्ति का शक्ति का कमाल है!
स्वामी अलबेलानन्द जी की जय हो!
हम भी तो स्वामी जी से आस लगाए बैठे हैं!

sarla jain July 10, 2011 at 10:42 AM  

jai hanuman

madhavlal bihari July 10, 2011 at 10:43 AM  

vaah jai bajrang bali ki

दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi July 10, 2011 at 10:45 AM  

अरे नम:

ज़ाकिर अली ‘रजनीश’ (Zakir Ali 'Rajnish') July 10, 2011 at 1:59 PM  

योगेन्‍द्र भाई का भी कुछ भला करें।

------
TOP HINDI BLOGS !

महेन्द्र मिश्र July 10, 2011 at 2:46 PM  

कमर्शियल मेंन हमेशा सबसे पहले अपने फायदे की सोचता है चाहे बाबा हो वैरागी हो कोई भी ....

ROHIT July 10, 2011 at 4:28 PM  

कौन सो संकट मोर गरीब को
जो तुमसो नही जात है टारो
को नही जानत है जग मे कपि
संकटमोचन नाम तिहारोकौन सो संकट मोर गरीब को
जो तुमसो नही जात है टारो
को नही जानत है जग मे कपि
संकटमोचन नाम तिहारो

राजकुमार शर्मा July 10, 2011 at 7:29 PM  

Swami albela nand maharaj kya hamare neta bhi rojana ek bhajan likhte hai? jai hanuman gyan gun sagar

Ratan Singh Shekhawat July 11, 2011 at 7:19 AM  

स्वामी अलबेलानंद जी महाराज की जय हो !
प्रभु आपके भजन हम भी रोज पढ़ रहें कुछ तो पुण्य इधर भी मिलना चाहिये :)

vidhya July 14, 2011 at 3:32 PM  

aathi sundar

Post a Comment

My Blog List

Blog Widget by LinkWithin

Emil Subscription

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

Followers

विजेट आपके ब्लॉग पर

Blog Archive