Albelakhatri.com

Hindi Hasya kavi Albela Khatri's blog

ताज़ा टिप्पणियां

Albela Khatri

प्रीति टेलर को पढ़ते हैं आप ? पढ़ते हैं तो कितना टिपियाते हैं ? आओ बात करें एक अलग विषय पर




प्यारे मित्रो !

यों तो हिन्दी ब्लॉग जगत में एक से बढ़ कर एक शब्दों के जादूगर

और शैलीसम्राट कवि/लेखक मौजूद हैं लेकिन कुछ ही लोग ऐसे

हैं जो कविता के माध्यम से सिर्फ़ शब्द साधना में तल्लीन हैं _

उन्हें कोई मतलब नहीं है टिप्पणी से, उन्हें कोई परवाह नहीं है किसी

बहस की, उन्हें कोई परवाह नहीं है हॉट लिस्ट में आने की....


ये लोग सदैव उम्दा लिखते हैं, परन्तु मैं उन पर बहुदा टीका टिप्पणी

इसलिए नहीं कर पाता क्योंकि वे मेरी पोस्ट को कोई भाव नहीं देते,

चूँकि हिन्दी ब्लोगिंग में आमतौर पर लोग सिर्फ़ अपने परिचित

और मित्र ब्लोगर्स को ही ज़्यादा रिस्पोंस देते हैं इसलिए ये शब्द

के पुजारी ज़्यादातर गुमनाम सी शोहरत से ही सन्तुष्ट रहते हैंसच

............मुझे इसका मलाल भी होता है कि इतना बढ़िया लिखने वाले

लोग कभी हॉट लिस्ट में क्यों नहीं पाते..........जबकि किसी

फ़ालतू सी बात पर बहस छिड़ जाये तो उस पोस्ट पर इतनी टिप्पणियां

आती हैं कि वह हॉट केक बन जाती हैभले ही इससे उस पोस्ट से जुड़े

लोगों को आत्मतुष्टि होती है लेकिन ब्लोगिंग का कोई भला होता

होगा, ये मैं नहीं मानता



आइये शुरूआत करें ऐसे निस्वार्थी और शब्द साधना के प्रति समर्पित

लोगों को प्रोत्साहित और अभिनन्दित करने की जो सतत लिख रहे हैं

और बहुत उम्दा लिख रहे हैंयदि हम किसी की निन्दाकारी में बढ़

चढ़ कर भाग ले सकते हैं तो किसी की प्रशंसा में क्यों नहीं..जबकि वह

हक़दार हो प्रशंसा का .............


सबसे पहले मैं नाम लूँगा श्रीमती प्रीति टेलर का ............


गुजरात के वडोदरा शहर की इस ऊर्जस्वित कवयित्री से हालांकि मैं

परिचित नहीं हूँ............परन्तु कवितायें सदैव पढता हूँ उनकी

...........बहुत ख़ूब लिखती हैं और लगातार लिखती हैं.....आज की

कविता का लिंक मैं दे रहा हूँ....एक नज़र ज़रूर डालियेगा..........



http://beshak.blogspot.com/2010/09/blog-post_06.html



यदि आपको इनकी कविता और मेरी बात अच्छी लगे तो मैं यही

विनम्र विनती करूँगा सबसे कि आज इन्हें इतना टिपियाओ कि

इनकी पोस्ट हॉट लिस्ट में टॉप पर नज़र आये


विनम्र

-अलबेला खत्री




12 comments:

अरुणेश मिश्र September 6, 2010 at 3:01 PM  

उत्कृष्ट की प्रशंसा वाञ्छनीय ।

Shah Nawaz September 6, 2010 at 3:26 PM  

आपने बिलकुल सही कहा.... मैंने तो अक्सर ऐसे लोगो को ही टिपण्णी भेजता हूँ, जिनको लोग जाने-ना जाने लेकिन लिखते अच्छा हैं.... ऐसे बहुत से हैं.

लेकिन सभी ब्लॉग एग्रीगटर का हॉट का फंडा ऐसा है की जिसके अधिक दोस्त हैं उसकी पोस्ट हिट है. चाहे रचना बेकार ही हो.......जय हो!

Shah Nawaz September 6, 2010 at 3:29 PM  

वैसे आपके दिए लिंक पर जाकर देखा तो आपकी बात सौ प्रतिशत सही थी, प्रीती जी ने वाकई अच्छा लिखती हैं. मैंने तो इसलिए एक साथ कई कमेन्ट दे दिए....... वोह कहावत है ना - "जैसा देश, वैसा भेष"

जब अधिक कमेंट्स से ही पोस्ट हिट होनी है तो दिए जाओ खूब सारे कमेन्ट. आखिर हिट लिस्ट में होगी तभी तो लोग पढेंगे ना???????

क्यों सही कहाँ ना अलबेला जी? ;-)

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक' September 6, 2010 at 8:17 PM  

दिये हुए लिंक पर जा रहा हूँ!
--
आभार!

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक' September 6, 2010 at 8:20 PM  

कमेंट कर दिया है!
--
बिटिया की महिमा अन्नत है।
बिटिया से घर में बसन्त है।।

दीपक 'मशाल' September 6, 2010 at 8:21 PM  

देख लिया आपका आभार..

शरद कोकास September 6, 2010 at 10:10 PM  

श्रीमति प्रीति टेलर साहित्य जगत का जाना पहचाना नाम है भाई ।

Udan Tashtari September 7, 2010 at 4:26 AM  

अक्सर ही पढ़ते हैं और टिप्पणी भी करते है.

Mithilesh dubey September 7, 2010 at 10:25 AM  

mai unhe aksar padhta hun aur pichle dino unhe commnet bhi diya hai

ब्लॉ.ललित शर्मा September 8, 2010 at 8:35 AM  

सार्थक लेखन के लिए बधाई
साधुवाद

लोहे की भैंस-नया अविष्कार
आपकी पोस्ट ब्लॉग4वार्ता पर

Unknown September 8, 2010 at 9:53 AM  

सार्थक लेखन करने वाले ब्लोगर्स को उभारने का आपका यह कार्य सराहनीय है!

Unknown September 8, 2010 at 11:16 PM  

आप का धन्यवाद जो एक अच्छी कवयित्री से परिचय कराया । अक्सर यह संभव नही होता कि हम 15-20 ब्लॉग से ज्यादा पर जाकर टिप्पणी दे पायें पर आप जैसे लोग अक्सर ऐसे उत्कृष्ट ब्लॉग की तरफ ध्यान दिलाते हैं । आभार ।

Post a Comment

My Blog List

Blog Widget by LinkWithin

Emil Subscription

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

Followers

विजेट आपके ब्लॉग पर

Blog Archive