Albelakhatri.com

Hindi Hasya kavi Albela Khatri's blog

ताज़ा टिप्पणियां

Albela Khatri

तुम्हारे चेहरे पे लावण्य और दान्तों में चमक है, लगता है तुम्हारे टूथपेस्ट में सचमुच नमक है


मेरे
देश के नालायक नेताओ !

तुम किसी काम के नहीं हो...........

महंगाई डायन तुम्हें खाती नहीं है

गरमी से भी जान जाती नहीं है

रेल हादसे तुम्हारा कुछ बिगाड़ नहीं पाते

नक्सलवादी भी एक बाल उखाड़ नहीं पाते

बाढ़ का पानी तुम्हारे घर में आता नहीं है

स्वाइन फ्लू का भी तुम से नाता नहीं है

प्रजा रो रही है पर तुम्हारी आँखें नम नहीं हैं

क्योंकि इन हालात का तुम्हें कोई ग़म नहीं है

तुम्हारे चेहरे पे लावण्य और दान्तों में चमक है

लगता है तुम्हारे टूथपेस्ट में सचमुच नमक है

जय हिन्द !


-अलबेला खत्री



4 comments:

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) May 25, 2012 at 5:13 PM  

बहुत बढ़िया प्रस्तुति!
आपकी प्रविष्टी की चर्चा कल शनिवार के चर्चा मंच पर लगाई गई है!
चर्चा मंच सजा दिया, देख लीजिए आप।
टिप्पणियों से किसी को, देना मत सन्ताप।।
मित्रभाव से सभी को, देना सही सुझाव।
शिष्ट आचरण से सदा, अंकित करना भाव।।

Rajesh Kumari May 26, 2012 at 11:10 AM  

बहुत जबरदस्त लिखा है यही कविता मोहम्मद नायाब जी ने ओपन बुक ऑनलाइन में पोस्ट की है अपने नाम से मामले की जांच चल रही है क्यूंकि वहां कोई किसी और की कविता पोस्ट नहीं कर सकता देखिये क्या सच्चाई निकल कर सामने आती है !!!

AlbelaKhatri.com May 26, 2012 at 11:25 AM  

@Rajesh Kumari ji,
आदरणीय
नमस्कार
मैं नहीं जानता कि ये मोहम्मद नायब साहेब कौन हैं लेकिन ये कविता मेरी है और उन्हें मुझसे बिना पूछे प्रकाशित करने का कोई अधिकार नहीं है .

अगर आप लिंक उपलब्ध करदें तो कृपा होगी ...मैं देखना चाहता हूँ
-अलबेला खत्री

ana May 26, 2012 at 2:50 PM  

jabardast kataksha

Post a Comment

My Blog List

Blog Widget by LinkWithin

Emil Subscription

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

Followers

विजेट आपके ब्लॉग पर

Blog Archive