Albelakhatri.com

Hindi Hasya kavi Albela Khatri's blog

ताज़ा टिप्पणियां

Albela Khatri

नक्सलवादी और आतंकवादी अगर हत्यारे हैं तो फिर ये हरामखोर मिलावटवादी कौन हैं ?





हमारा देश और इस देश का नागरिक जितने बड़े संकट से आज गुज़र

रहा है इतिहास में इसकी कोई मिसाल नहीं मिलती । मौत मौत

और सिर्फ़ मौत का नंगा नाच हो रहा है चारों ओर...............सड़क पे

मौत, ट्रेन में मौत, स्कूल में मौत, अस्पताल में मौत, पुलिस स्टेशन

में मौत, होटल में मौत और घर में बैठे बैठे भी मौत !


आज जब इस पर गहराई से चिन्तन किया तो बहुत सी बातें ज़ेहन

में आयीं ..........वो आपके साथ बांटना चाहता हूँ । भगवान न करे

कि वो सब सच हो, लेकिन अगर वो सब शंकाएं सच हैं तो दोस्तों !

अब जाग जाओ.......और अपनी सुरक्षा अपने हाथ में ले लो

..........क्योंकि अब कानून व्यवस्था से कोई ख़ास उम्मीद नहीं है ।


मैं मेरी सोच और वो सब शंकाएं आपके सामने रखूं तब तक एक

बार इस पर विचार कर लें कि नक्सलवादी और आतंकवादी तो

हत्यारे हैं ही, परन्तु वे अगर हत्यारे हैं तो फिर ये कौन हैं जो

व्यापारियों के भेष में मौत की सौदागरी करते हैं ।


व्यापार में झूठ और हेराफेरी तो लाज़िमी है । क्योंकि व्यापारी

आदमी कितना भी कमाले, उसका मन नहीं भरता ............लेकिन

कमाने का भी कोई कायदा होता है । मिलावट पहले भी होती थी

लेकिन वो मिलावट हम हँसते हँसते मज़ाक में उड़ा देते थे..........जैसे

दूध में पानी की, सब्ज़ियों में पत्तों, डंठलों और नमी की, मसालों में

घटिया और सस्ते मसालों की, देशी घी में डालडा की और मावा में

शक्कर की.........ये मिलावट हमें दुखती तो थी, लेकिन हमारे

स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ करके हमारी ज़िन्दगी को बर्बाद नहीं

करती थी।


अब तो दूध ही यूरिया का बन रहा है, मावा भी केमिकल से बन

रहा है, सब्ज़ियों और फलों में घातक रसायनों और रंगों का घालमेल

है, घी के नाम पर सड़ी हुई पशुचर्बी और मसालों में लकड़ी के बुरादे

से ले कर सीमेन्ट तक की मिलावट ???????????????????????


क्या है ये ????????????


अगर नक्सलवादी और आतंकवादी हत्यारे हैं तो फिर ये मिलावट

करने वाले हरामखोर कौन हैं जो हमारे घरों तक घुस आये हैं और

हमारी ज़िन्दगी के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं ?



इस विषय पर एक ख़ास आलेख मैं अगली पोस्ट पर लिख रहा हूँ

............कृपया पढ़िएगा ज़रूर ।


-अलबेला खत्री

delhi, milavat, upbhokta, zahar, poison, mout, killer,dengar, bird flu, fack, duplicate, fifa, dance, chance

















www.albelakhatri.com

6 comments:

ललित शर्मा July 13, 2010 at 10:00 AM  

ये तो बहुत बड़े ......।

देव कुमार झा July 13, 2010 at 10:07 AM  

सही बोला भाई, इन लोगों के खिलाफ़ तो कडी कार्यवाही होनी चाहिए...

राज भाटिय़ा July 13, 2010 at 4:48 PM  

ये मिलावट
करने वाले हरामखोर सब के सब हराम की ओलाद है, जिन्के बाप का कुछ पता नही, यकिन ना हो तो किसी का भी "डी एन ए" कर के देख लो,

दीपक 'मशाल' July 13, 2010 at 6:01 PM  

ये क्या कह रहे हैं आप???? मिलावट तो हमारे यहाँ खुद ही एक बिजनेस का नाम है ये कोई अपराध थोड़े ही है.. सरकार से लेकर जानता तक सब इस धंधे से खुश हैं.. नक्सल समस्या के लिए हाल ही आई फिल्म 'रेड एलर्ट' जरूर देखें आप भी प्रेम कहानी फिल्मों में ना फंसे रहें.. :)

डॉ महेश सिन्हा July 14, 2010 at 12:09 AM  

सब कुछ लुटा के होश में आए तो क्या किया

dev July 31, 2010 at 1:08 PM  

आदरणीय खत्री साहब, इन मिलावट खोरों को क्या नाम दे....? इनके लिए कोई शब्द नही है, हर शब्द छोटा पड जाता है इनकी काली करतूतों के आगे ,ये वो राक्षस है जो अपनी पैसो की भूख मिटाने के लिए मासूम बच्चों से लेकर बूढे-बुजर्ग तक को अपनी मिलावटी काली करतूतों से काल के ग्रास मे भेजेने से भी नही डरतें !

Post a Comment

My Blog List

Blog Widget by LinkWithin

Emil Subscription

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

Followers

विजेट आपके ब्लॉग पर

Blog Archive