Albelakhatri.com

Hindi Hasya kavi Albela Khatri's blog

ताज़ा टिप्पणियां

Albela Khatri

ज़रा ईमान दे दो माँ !

हे वीणापाणि, वाणी को सुरों का ज्ञान दे दो माँ !

कलम में बल, हृदय निर्मल,सहज सम्मान दे दो माँ !

दया का दान दे दो माँ ...यही वरदान दे दो माँ !

वतन के कर्णधारों को ज़रा ईमान दे दो माँ !



ज़रा ईमान दे दो माँ .....वतन खुशहाल हो जाए

समृद्धि की बहे धारा व मालामाल हो जाए

नई पीढ़ी के पीले चेहरे फिर से लाल हो जाए

ये भारतवर्ष जग में फिर बेमिसाल हो जाए

4 comments:

Nirmla Kapila May 29, 2009 at 9:46 AM  

बहुत सुन्दर सरस्वति वंदना बधाई
www.veerbahuti.blogspot.com

ACHARYA RAMESH SACHDEVA May 29, 2009 at 11:14 AM  

रचना अच्छी ही नहीं बहुत ही अच्छी लगी। सरस्वती से अब विमल मति नेताओं के लिए मांगना बहुत जरूरी हो गया है। आपने मांगा औरों को प्रेरित किया धन्यवाद।
ईमेल से भेज सकें अथवा लिंक बना पांए तो आभारी रहूंगा।

ACHARYA RAMESH SACHDEVA May 29, 2009 at 11:15 AM  

रचना अच्छी ही नहीं बहुत ही अच्छी लगी। सरस्वती से अब विमल मति नेताओं के लिए मांगना बहुत जरूरी हो गया है। आपने मांगा औरों को प्रेरित किया धन्यवाद।
ईमेल से भेज सकें अथवा लिंक बना पांए तो आभारी रहूंगा।

Udan Tashtari May 29, 2009 at 6:08 PM  

बहुत बेहतरीन रचना.

Post a Comment

My Blog List

Blog Widget by LinkWithin

Emil Subscription

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

Followers

विजेट आपके ब्लॉग पर

Blog Archive