Albelakhatri.com

Hindi Hasya kavi Albela Khatri's blog

ताज़ा टिप्पणियां

Albela Khatri

बाबा रामदेव , राखी सावंत और रजत शर्मा (4)

तीनों P के लिए कुछ भी कर सकते हैं


यों तो अपना पूरा देश ही "P" से परेशान है जैसे P फॉर पोलिटिक्स,

P फॉर पोल्यूशन, P फॉर पार्लियामेंट, P फॉर पॉप्युलेशन, P फॉर

पाकिस्तान, P फॉर पुलिस और P फॉर पार्टी बाज़ी इत्यादि लेकिन

ये तीनों महानुभाव तो समर्पित ही P के लिए हैं और रात दिन एक

किए हुए हैं P के लिएये लोग P के लिए कुछ भी कर सकते हैं



रामदेव बाबा का के लिए P फॉर पतन्जलि योग पीठ प्राणायाम,

राखी सावंत के लिए P फॉर पब्लिसिटी और रजत शर्मा के लिए

P फॉर पैसा और पावर



तीनों विवादास्पद हैं


जी हाँ तीनों विवादों में ही घिरे रहते हैंरामदेव बाबा चूँकि कम

समय में देश का ज़्यादा भला करना चाहते हैं इसलिए कभी योग

पर तो कभी रोग पर, कभी धर्म पर तो कभी माँ भारती के मर्म पर,

कभी सम्लैंगिन्गता पर तो कभी राजनीति पर, एक से दूसरे मंच

पर उछालते ही रहते हैं, राखी रोज़ नए विवाद करती ही है कभी चुम्मे

से तो कभी स्वयंवर से.........रहे रजत शर्मा ये विवाद को हवा देने

और उसके ज़रिये अपने चैनल को चमकाने की जुगत में ही जुटे

रहते हैं




तीनों जीरो से हीरो बने हैं


जी हाँ ! तीनों ने ही यहाँ तक पहुँचने के लिए बहुत संघर्ष किया है

तीनों जीरो से हीरो बने हैंरामदेव बाबा ने जब पहला योग

कार्यक्रम किया था सूरत शहर में तो उसमे कुल तीन लोग शामिल

हुए थेराखी सावंत कुछ साल पहले तक चंद रुपयों के लिए अर्धनग्न

नृत्य करती रही है होटलों और बार मेंऔर रजत शर्मा एक साधारण

रिपोर्टर हुआ करते थेमतलब ये कि तीनों में से किसी के पास विरासत

का कुछ नहीं है, इन्होंने जो कुछ भी हासिल किया अपने दम पे किया




तीनों मीडिया के बनाए हुए हैं


बिल्कुल ! मीडिया होता तो इन में से एक भी बन्दा आज इतने शिखर

पर होताकुछ सालों पहले इन तीनों को कोई नहीं जानता था और

आज बच्चा बच्चा इनकी शक्ल से वाकिफ़ हैये सिर्फ़ और सिर्फ़

मीडिया में लगातार बने रहने के ही परिणाम हैं



मिलते हैं ब्रेक के बाद,,,,,,,,,, आपने टिप्पणी की ?

कीजिये, तब तक मैं चाय पी लूँ........



शेष अगले और अन्तिम अंक में ...........


































4 comments:

Mithilesh dubey November 10, 2009 at 12:42 AM  

अरे वाह कमाल है भाई, इसपे तो हमारा ध्यान ही नहीं गया।

राज भाटिय़ा November 10, 2009 at 12:46 AM  

बहुत सही लिखा आप ने धन्यवाद

Sahespuriya November 10, 2009 at 2:11 AM  

KYA KEHNA ZINDABAD

Murari Pareek November 10, 2009 at 9:26 AM  

bahut shandaar tarke se teeno ko ek kiya hai!!!!

Post a Comment

My Blog List

Blog Widget by LinkWithin

Emil Subscription

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

Followers

विजेट आपके ब्लॉग पर

Blog Archive