Albelakhatri.com

Hindi Hasya kavi Albela Khatri's blog

ताज़ा टिप्पणियां

Albela Khatri

देखा नहीं जाता बन्धु, कैसी ये विडम्बना है.....



वासना
के रोगियों को

भूख है शरीर की तो

आम जनता को आश्वासन की भूख है



ये वाले हों,चाहे हों वो वाले,

सभी नेताओं को

सत्ता यानी दिल्ली के सिंहासन की भूख है



कवियों को भूख होती

कविता के श्रोताओं की

श्रोताओं को लीडर के भाषण की भूख है



देखा नहीं जाता बन्धु,

कैसी ये विडम्बना है

देश के किसानों घर राशन की भूख है


5 comments:

Razi Shahab November 17, 2009 at 12:37 PM  

baja farmaya aapne...
aisa hi hai

Murari Pareek November 17, 2009 at 12:49 PM  

koi bhi bhara pet nahi sab ki bhukh hai alag lag ksim ki bhukh bahut sundar!!!

शिवम् मिश्रा November 17, 2009 at 12:56 PM  

गन्दा है पर धंधा है यह ....
जब देश के नेता ही भूखे है तो जनता तो भूखी होगी ही .......

Harkirat Haqeer November 17, 2009 at 2:58 PM  

कवियों को भूख होती है
कविता के श्रोताओं की ...

कमेन्ट की नहीं..? .....हा...हा...हा.....!!

MANOJ KUMAR November 17, 2009 at 6:06 PM  

badhiya hai.

Post a Comment

My Blog List

Blog Widget by LinkWithin

Emil Subscription

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

Followers

विजेट आपके ब्लॉग पर

Blog Archive