Albelakhatri.com

Hindi Hasya kavi Albela Khatri's blog

ताज़ा टिप्पणियां

Albela Khatri

दिल चाहे तो रोज़ मरो आज़ादी है..................

लूटो खाओ मौज करो आज़ादी है

कभी किसी से नहीं डरो आज़ादी है

मौत बहुत सस्ती करदी नेताओं ने

दिल चाहे तो रोज़ मरो आज़ादी है

7 comments:

M VERMA August 11, 2009 at 7:40 PM  

वाह रे आज़ादी

Mithilesh dubey August 11, 2009 at 8:00 PM  

बिल्कुल सही अलबेला जी हमारे यहां तो आजादी के मतलब कुछ ऐसे ही प्रतित हो रहे हैं।

ओम आर्य August 11, 2009 at 8:19 PM  

bahut hi sundar ....satik hai

Nirmla Kapila August 11, 2009 at 8:56 PM  

vaah vaah kyaa sahee baat kahee hai badhaaI is aajaadee kee

राजीव तनेजा August 11, 2009 at 8:59 PM  

सीमित शब्द...सटीक व्यंग्य

चंदन कुमार झा August 11, 2009 at 9:10 PM  

बहुत खूब.

Udan Tashtari August 11, 2009 at 9:25 PM  

बहुत खूब..वाकई मौत इतनी सस्ती कर दी और अरहर मँहगी!

Post a Comment

My Blog List

Blog Widget by LinkWithin

Emil Subscription

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

Followers

विजेट आपके ब्लॉग पर

Blog Archive