Albelakhatri.com

Hindi Hasya kavi Albela Khatri's blog

ताज़ा टिप्पणियां

Albela Khatri

आने वाली है बहार मेरे देश में ............

कुछ ही दिनों का

मेहमान है ये पतझड़,

देखो आने वाली है बहार मेरे देश में



शीतल हवायें और

मादक फिजायें बन्धु

झूम-झूम गायेंगी मल्हार मेरे देश में



कितना सुकून, कितना

आनन्द होगा जब

खुशियों के फूटेंगे अनार मेरे देश में


सुख की सरिता में

कमल पे सवार माता

शारदा बजायेगी सितार मेरे मेरे देश में


-------------------वैसे तो शारदा माता वीणा बजाती हैं
लेकिन उनका मूड हो तो सितार क्या गिटार भी बजा सकती हैं ..हा हा हा हा

9 comments:

ताऊ रामपुरिया June 18, 2009 at 11:28 AM  

बहुत बढिया भाई. संगीत तो संगीत होता है चाहे वीणा, गिटार या सितार से निकले.:)

रामराम.

Murari Pareek June 18, 2009 at 1:26 PM  

हा.. हां...फंस गए मन्नू दो लुगाइयों के बिच में !!! एक ही काफी होती है यहाँ तो दो दो !!!

राज भाटिय़ा June 18, 2009 at 1:54 PM  

वो सुबह कभी तो आयेगी........

cartoonist anurag June 18, 2009 at 4:43 PM  

maf kijiye shri Vishwa Mohan bhatt guitar par veena bajate hain. fir vo to maa sharda hai guitar se jiski aavaz chahengi uski nikal lengi.

काजल कुमार Kajal Kumar June 18, 2009 at 7:53 PM  

सकारात्मक विचार पढ़कर अच्छा लगा, वर्ना हिंदी ब्लॉग्गिंग की दुनिया में ऐसा लगता है कि, 24 घंटे, कोई 'सत्यकथा' और 'मनोहर कहानियां' पढ़ा रहा हो. :-)

Murari Pareek June 19, 2009 at 12:14 PM  

गलती से वहा की टिपण्णी यहाँ पोस्ट हो गयी है, और यहाँ की टिपण्णी के लिए शब्दों की तलास है!!

Nirmla Kapila June 19, 2009 at 9:47 PM  

शुभकामनायें जल्दी से वो दिन आये

Pyaasa Sajal June 20, 2009 at 11:11 PM  

ant mazeedar hai

Sheena June 21, 2009 at 7:46 PM  

-------------------वैसे तो शारदा माता वीणा बजाती हैं
लेकिन उनका मूड हो तो सितार क्या गिटार भी बजा सकती हैं ..हा हा हा हा

sab kuch alag tarah se dekhne ka aapka nazariya bahut hi pasand aaya...

Post a Comment

My Blog List

Blog Widget by LinkWithin

Emil Subscription

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

Followers

विजेट आपके ब्लॉग पर

Blog Archive