Albelakhatri.com

Hindi Hasya kavi Albela Khatri's blog

ताज़ा टिप्पणियां

Albela Khatri

अमिताभ बच्चन ने एक हज़ार जानें बचाईं

फ़िल्म वाले भी कभी- कभी कितने अच्छे कार्य करते हैंएक फ़िल्म आई थी 'नि:शब्द' .....बड़ी अच्छी फ़िल्म थीमैं पहले दिन गया तो टिकट नहीं मिली, दूसरे दिन गया तो फ़िल्म ही नहीं मिली .....बड़ी अच्छी फ़िल्म थी
इस फ़िल्म के दम पे अमिताभ बच्चन ने एक हज़ार लोगों की जान बचाई
हुआ यों कि जिस थियेटर में ये फ़िल्म चल रही थी उसकी छत गिर गई

अन्दर कोई था ही नहीं
इसलिए मरा ही नहीं __________हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा

15 comments:

Randhir Singh Suman June 12, 2009 at 7:39 PM  

good

ताऊ रामपुरिया June 12, 2009 at 7:43 PM  

वाह..ईश्वर कितना नेक है?:)

रामराम.

राजा कुमारेन्द्र सिंह सेंगर June 12, 2009 at 9:27 PM  

ye to TOO MUCH HO GAYAA (amitabha bachchan ke shabdon men)

योगेन्द्र मौदगिल June 12, 2009 at 9:52 PM  

wah g wah

डॉ टी एस दराल June 12, 2009 at 10:00 PM  

व्यंग अच्छा है.

वन्दना अवस्थी दुबे June 12, 2009 at 11:00 PM  

वाह!!!

रंजन June 12, 2009 at 11:02 PM  

:)

गिरीश बिल्लोरे मुकुल June 12, 2009 at 11:12 PM  

is vyngy dhar
tez se bhee tez hai

गिरीश बिल्लोरे मुकुल June 12, 2009 at 11:14 PM  

Albela Khatri With
Rakhi Sawant.?
Bhabhi sahb ko pata hai ki nai

राज भाटिय़ा June 12, 2009 at 11:33 PM  

भाई यह बाप बेटा गरीब जनता का बहुत ध्यान रखते है, मै इन दोनो का दिल से आभार करता हुं, काश ऎसी ही फ़िल्मे बनाते रहे, ओर जनता बचती रहे.......
धन्यवाद

परमजीत सिहँ बाली June 13, 2009 at 12:09 AM  

राज जी सही कह रहे हैं ऐसी फिल्मे ही बननी चाहिए;))

Gyan Darpan June 13, 2009 at 8:43 AM  

व्यंग अच्छा है.

शेफाली पाण्डे June 13, 2009 at 12:14 PM  

raj bhatiya jee se sehmat....
jabardast likha aapne

स्वप्न मञ्जूषा June 13, 2009 at 4:37 PM  

main swaym nishabd ho gayi

राजीव तनेजा August 29, 2009 at 12:03 AM  

सीमित शब्दों में बढिया व्यंग्य

Post a Comment

My Blog List

Blog Widget by LinkWithin

Emil Subscription

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

Followers

विजेट आपके ब्लॉग पर

Blog Archive