Albelakhatri.com

Hindi Hasya kavi Albela Khatri's blog

ताज़ा टिप्पणियां

Albela Khatri

क़ानून बदल दिया जाता है..........



वाहनों में लुटती है



आबरू जहाँ पे यारो



दफ़्तर में घुस के क़तल किया जाता है




पटना,निठारी जहाँ



नन्हे-नन्हे मासूमों को



रौन्द दिया जाता है मसल दिया जाता है




फँसते हैं नेता जब



कानून के घेरे में तो



क़ानून पे क़ानून बदल दिया जाता है




मेरा देश वही है



जहाँ पे रात दिन बन्धु



मार-काट-लूट-चोरी-छल किया जाता है

6 comments:

Anonymous June 30, 2009 at 3:29 AM  

हमारे देश और समाज की तस्वीर कितनी विकृत हो चुकी है, उसका सही आंकलन है यह कविता.....बधाइयां जी.....

साभार
हमसफ़र यादों का.......

राजीव तनेजा June 30, 2009 at 7:55 AM  

सच कहा आपने....

Murari Pareek June 30, 2009 at 8:30 AM  

बहुत खूब कहा है, नेताओं के लिए कानून बदल दिए जाते हैं, कानून तो मजलूम गरीबों पर लागु होते हैं !!

Anil Pusadkar June 30, 2009 at 10:19 AM  

इतना भी बुरा हाल नही है। कुछ अच्छे लोग जैसे आप,हम और दूसरे ब्लागर भाई भी तो इसी देश मे रहते है और अच्छे कामो मे लगे हुये हैं।वैसे हालत चिंताज़नक ज़रूर है और सुधरने के हालात भी नज़र नही आते।आप जैसे लोगो को ही सामने आना पड़ेगा।

ताऊ रामपुरिया June 30, 2009 at 11:41 AM  

आज तो यही हालात है.

रामराम.

cartoonist anurag June 30, 2009 at 11:44 AM  

aapki yeh rachna bahut hi sunder hai...
is rachna par mera ek cartoon bahut hi male kh raha hai...
jaroor dekhen........BAP RE.....

Post a Comment

My Blog List

Blog Widget by LinkWithin

Emil Subscription

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

Followers

विजेट आपके ब्लॉग पर

Blog Archive