Albelakhatri.com

Hindi Hasya kavi Albela Khatri's blog

ताज़ा टिप्पणियां

Albela Khatri

यही हमारा हिन्दुस्तान है ..................

मन्दिर में हो रही आरती, मस्जिद में अज़ान है
गुरुद्वारों में शबद गूंजते , चर्च में प्रेयर गान है
जिनालयों में णमोकार, अगियारी ज्योतिमान है
बौद्ध मठों में मंगलगान है ........................
यही हमारा हिन्दुस्तान है ........................



बाइबिल से झगड़ा करने
गुरुवाणी किस दिन आई ?
किस दिन अगियारी ने
देरासर को आँख दिखाई ?
किस दिन मस्जिद की मीनारें
मन्दिर से टकराई ?
और किस दिन चौपाई ने
आयत के घर आग लगाई ?
________________नानक जीसस महावीर बुद्ध
________________सारे एक समान हैं
________________मैं जिसको कहता हूँ राम
________________वो ही तेरा रहमान है
________________मेरे घर में गीता है और
________________तेरे घर कुरआन है
सब का आदर और सम्मान है
यही हमारा हिन्दुस्तान है .................................
यही हमारा हिन्दुस्तान है ___हाँ हाँ यही हमारा हिन्दुस्तान है
____________________अपना प्यारा हिन्दुस्तान है


-जय हिन्द !
-अलबेला खत्री

9 comments:

रंजन June 6, 2009 at 10:50 AM  

बहुत खुब..

निर्मला कपिला June 6, 2009 at 10:58 AM  

वह अलबेला जी बहुत ही सुन्दर कविता धर्म की सही परिभाशा है जो धर्म के नाम पर लोगोम को सहिष्णुता वहन करने पर जोर देती है

संजय बेंगाणी June 6, 2009 at 11:19 AM  

इतना ही समझ लें तो सारा टंटा ही खत्म ना हो जाए?

RAJNISH PARIHAR June 6, 2009 at 12:12 PM  

बिलकुल सही में सर्व धर्म की इज्ज़त करने वाला यही तो हिंदुस्तान है....!अच्छी रचना हेतु बधाई...

Pt. D.K. Sharma "Vatsa" June 6, 2009 at 12:22 PM  

भई अल्बेला जी, आपने बहुत बढिया रचना प्रस्तुत की है,किन्तु इसका एक दूसरा रूप भी है।
"हमे न अपनी सभ्यता और न संस्कृ्ति पे मान है
जी हाँ, यही हमारा हिन्दुस्तान है ।।"

M Verma June 6, 2009 at 12:49 PM  

bahut khoob albela ji
apne apne hindustan ki sahi tasveer dikhai.
badhai

प्रिया June 6, 2009 at 2:00 PM  

wah! sir, aapne to hindustan ke har ghar ke darshan kara diya

unity in diversity... yahi hai hamari pahchaan

शेफाली पाण्डे June 6, 2009 at 10:43 PM  

यही हमारा हिन्दुस्तान है ..
ऐसा ही है फिर भी सबसे महान है

vijay kumar sappatti June 9, 2009 at 4:16 PM  

albela ji

is kavita ne man choo liya .. jab aapse milunga to is kavita ke liye neg doonga boss. mera salaam hai aapko

vijay

Post a Comment

My Blog List

myfreecopyright.com registered & protected
CG Blog
www.hamarivani.com
Blog Widget by LinkWithin

Emil Subscription

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

Followers

विजेट आपके ब्लॉग पर

Blog Archive